डॉ वर्गीस कुरियन स्मृति पशुधन विकास प्रशिक्षण केंद्र
राजस्थान

(A UNIT OF BHARTIYA PASHUPALAN NIGAM LTD.)

उद्देश्य

  1. देशी नस्ल के पशुधन का संरक्षण व संवर्धन |
  2. कृत्रिम गर्भाधान का प्रशिक्षण देकर पशुपालको को तैयार करना |
  3. प्रदेश के किसानो/पशुपालको को प्रशिक्षण के माध्यम से नवीनतम तकनिकी जानकारी जैसे पशुपालन एवं पशु प्रबंधन जिसके अंतर्गत उन्नत पशु गृह निर्माण ,टीकाकरण ,पशुओ में रोग एवं रोगो की जानकारी तथा रोकथाम हेतु प्राथमिक घरेलु उपचार ,पशुधन उत्पादन एवं प्रबंधन,कृत्रिम गर्भाधान से नस्ल सुधर ,पशुपालन को लाभप्रद बनाने के नुस्खे ,पशुपालन में सहकारिता ,पशु बीमा ,पशु ऋण ,पशुपालन विभाग के अनुदानित योजनाओ की जानकारी उपलब्ध करवाना ,दुग्ध वृद्धि हेतु पशु उत्पाद विपणन ,डेयरी विकास एवं व्यवसाय प्रबंधन ,पशु आहार ,चारा उत्पादन ,चारा विकास एवं प्रबंधन इत्यादि |
  4. प्रदेश में व्याप्त ग्रामीण स्तरीय बेरोज़गारी को दूर करने में सहयोग करना |
  5. शिक्षित ग्रामीण नवयुवको को पशुपालन के प्रति जो अरुचि हो रही है उसे दूर कर पशुपालन को व्यवसायिक रूप प्रदान करते हुए इसके साथ जोड़ना |
  6. उन्नत नस्ल के पशु से प्राप्त उत्पादों से पशुपालक को आर्थिक रूप से स्वावलम्बी बनाना |

News & Events